Balak Shabd Roop – Educational Dose

प्रिय दोस्तों आज हम लोग एक बहुत ही रोचक टॉपिक Balak Shabd Roop (बालक के शब्द रूप ) के बारे में जानेंगे ये टॉपिक आज मैंने संस्कृत विषय से लिया है संस्कृत थोड़ी कठिन जरूर है लेकिन बहुत रोचक विषय भी है संस्कृत को भारतवासी देवभाषा कहते है मतलब देवो द्वारा बोली गयी भाषा तो शुरू करते है आज का टॉपिक Balak Shabd Roop

Balak Shabd Roop (बालक के शब्द रूप )

विभक्ति एकवचन द्विवचन बहुवचन
प्रथमा बालकः बालकौ बालकाः
द्वितीयाबालकम् बालकौ बालकान्
तृतीया बालकेन् बालकेभ्याम बालकैः
चतुर्थी बालकाय बालकेभ्याम बालकेभ्यः
पंचमीबालकात् बालकेभ्याम बालकेभ्यः
षष्ठी बालकस्य बालकयोः बालकानाम्
सप्तमीबालकेबालकयोःबालकेषु
सम्बोधनहे बालक! हे बालकौ!हे बालका!
विभक्ति कारक एकवचनद्विवचन बहुवचन
प्रथमा कर्ता बालकः(सु) बालकौ (औ) बालकाः (जस्)
_
_(बालक ने)(दो बालकों ने)(बहुत बालकों ने)
द्वितीयाकर्म बालकम् (अम्)बालकौ (औट) बालकान् (शस्)
(बालक को) (दो बालकों को)(बहुत बालकों को)
तृतीया करण बालकेन (टा) बालकाभ्याम् (भ्याम्) बालकैः (भिस्)
__(बालक से) (दो बालकों से)(बहुत बालकों से)
चतुर्थी सम्प्रदान बालकाय (ङे) बालकाभ्याम् (भ्याम्) बालकेभ्यः (भ्यस्)
__(बालक को, के लिए)(दो बालकों को, के लिए)(बहुत बालकों को, के लिए)
पञ्चमी अपादान बालकात् (ङसि) बालकाभ्याम् (भ्याम्) बालकेभ्यः (भ्यस्)
(बालक से)(दो बालकों से)(बहुत बालकों से)
षष्ठी सम्बन्ध बालकस्य (ङस्) बालकयोः (ओस्) बालकानाम् (आम्)
(बालक का)(दो बालकों का) (बहुत बालकों का)
सप्तमी अधिकरण बालके (ङि) बालकयोः (ओस्) बालकेषु (सुप्)
(बालक में, पर)(दो बालकों में, पर)(बहुत बालकों में, पर)
प्रथमा सम्बोधन हे बालक (सु) हे बालकौ (औ)हे बालकाः (जस्)
(हे एक बालक!) (हे दो लड़कों!)(हे बहुत से लड़कों!)

प्रिय दोस्तों आज हम लोग एक बहुत ही रोचक टॉपिक Balak Shabd Roop (बालक के शब्द रूप ) के बारे में जानेंगे ये टॉपिक आज मैंने संस्कृत विषय से लिया है संस्कृत थोड़ी कठिन जरूर है लेकिन संस्कृत को भारतवासी देवभाषा कहते है मतलब देवो द्वारा बोली गयी भाषा तो शुरू करते है

You May Also Like These Posts:-

Leave a Reply

Your email address will not be published.