Bharat ke Pramukh Darre – Educational Dose

Bharat ke Pramukh Darre

नमस्कार दोस्तों आज की पोस्ट में हम आपको bharat ke pramukh darre की टॉपिक लायी हूँ , और साथ में ही भारत में स्थित प्रमुख दर्रे जानकारी भी पूर्ण रूप से लायी हूँ अक्सर आप सभी लोग कम्पटीसन की तैयारी करते हो तो bharat ke pramukh darre से रिलेटिव प्रश्न बहुत पूछा जाता है और विभिन्न तरीको में पूछा जाता है l इसलिए आपके पास यह जानकारी होना बहुत जरुरी होता है l

दोस्तों यह एक छोटा सा टॉपिक है जो की हमने अपनी पोस्ट में दी है आप यह पोस्ट पढ़ोगे , तो आपको छोटे से टॉपिक के बारे बहुत जानकारी मिल जाएगी इसलिए हमने इस पोस्ट विभिन्न राज्यो के प्रमुख दर्रे के बारे जानकारी दी ताकि आप इस टॉपिक को याद करने में आसानी हो l

भारत के प्रमुख दर्रे

दर्रेराज्य
कराकोरम दर्रा जम्मू कश्मीर
जिजिला दर्राजम्मू कश्मीर
पीरपंजाल दर्राजम्मू कश्मीर
बनिहाल दर्राजम्मू कश्मीर
बुर्जिला दर्रा जम्मू कश्मीर
शिपकिला दर्राहिमाचल प्रदेश
रोहतांग दर्राहिमाचल प्रदेश
बड़ालाचा दर्रा हिमाचल प्रदेश
लिपुलेख दर्राउत्तराखंड
माना दर्राउत्तराखंड
नीति दर्रा उत्तराखंड
नाथुला दर्रासिक्किम
जैलेप्ला दर्रा सिक्किम
बोमडिला दर्राअरुणाचल प्रदेश
यांग्यप दर्रा अरुणाचल प्रदेश
दिफू दर्रा अरुणाचल प्रदेश
तुजू दर्रा मणिपुर

दर्रा किसे कहते हैं ?:-

अपने देखा होगा प्रकृति बहुत अच्छे अच्छे उपहार रचना दी है जैसेकि खनिज पदार्थ , वृक्षों फलो के साथ विभिन्न औषधियों को बनने के लिए अनेक प्रकार की वनस्पतिया , वायु , प्रकाश आदि और साथ में ही एक और प्रकृति दी हुयी अनोखी रचना में से एक रचना पहाड़ों के बीच से निकले हुए रस्ते भी है जिनको हम दर्रे के नाम से जानते है दर्रे विभिन्न प्रयोजनों और विभिन्न हिस्सों के साथ जोड़ने के लिए उपयोग किये जाते है उसे ही दर्रे कहते है तथा यह भी कह सकते है , कि पर्वतीय श्रेणियो के मध्य पाये जाने वाले आवागमन के प्राकृतिक मार्ग को दर्रे कहते है यह एक प्रकृति मार्ग के जो अक्सर पहाड़ो को पार करने में , व्यपार परिवहन ,युद्ध के समय , किया जाता है इसलिए इनकी भूमिका बहुत महत्वपूर्ण है l

भारत में पाये जाने वाले दर्रे :-

भारत में दर्रो को मुख्यता दो भागो में बाँटा गया है l
1:- हिमालय के पर्वतीय राज्यों एवं केंद्र शासित प्रदेश में पाये जाने वाले दर्रे –
2 :- प्रायद्धीप भारत के राज्यों में पाये जाने वाले दर्रे –

1:- हिमालय के पाहडियो राज्यों एवं केंद्र से शासित प्रदेश में पाये जाने वाले दर्रे :-

प्रदेश शहित केंद्र – जम्मू कश्मीर
राज्य – सिक्किम, हिमाचल ,उत्तराखंड , मणिपुर ,अरुणाचल प्रदेश l

जम्मू कश्मीर :- जम्मू कश्मीर एक ऐसा दर्रा है जिसके पांच दर्रे है और इसके पाँचो दर्रे बहुत महत्वपूर्ण है l
i :- काराकोरम दर्रा – काराकोरम दर्रा भारत का सबसे ऊँचा दर्रा है जिसकी ऊंचाई समुद से 5654 मी० है और काराकोरम पर्वत श्रेणी में भी आता है यह पाकिस्थान के कब्जे वाले जम्मू कश्मीर और चीन को हमेशा जोड़ता है l
ii :- जोजिला दर्रा :- जोजिला दर्रा जास्कर (जासकर ) के पर्वतीय श्रेणी में आता है इसकी ऊंचाई 3528 मी० है यह कश्मीर घाटी को लेह से जोड़ता है l
iii :-पीरपंजाल दर्रा :- पीरपंजाल दर्रा पर्वत श्रेणी में आता है पुलगांव से कोठी हमेशा इसी रास्ते से जाती है इसकी ऊंचाई समुंद से 3490 मी० है l
iv :- बनिहाल दर्रा :- बनिहाल दर्रे में जवाहर सुरंग बानी है जो पीरपंजाल दर्रे कि पर्वत श्रेणी में आता है इसकी ऊंचाई 2832 मी० है और जम्मू से श्रीनगर जाने वाला NH- 1A है तथा यह श्रीनगर और जम्मू कश्मीर को जोड़ता है l
v :- बुर्जिला दर्रा :- यह दर्रा जम्मू कश्मीर के दर्रे में से सबसे पीछे का दर्रा है जिसकी ऊंचाई 4100 मी० है यह श्रीनगर को गिलगित से जोड़ता है l

हिमाचल प्रदेश:- हिमाचल कि तीन मुख्यय दर्रे स्थित है
i :- बारालाचा दर्रा :- हिमांचल प्रदेश का पहला दर्रा बारालाचा दर्रा है |जिसकी उचाई समुन्द्र ताल से ४८४३ मीटर है | यह मंडी और लेह को जोड़ता है तथा जास्कर पर्वत श्रेणी में स्थित होता है|
ii :- शिपकिला दर्रा :- इस दर्रे को शिपकिला या शिपकी दर्रा भी कहंते है | यह भी जासकर में स्थित होता है यह शिमला को तिब्बत से जोड़ता हैं l
iii :- यह हिमाचल प्रदेश का तीसरा दर्रा है ये मनाली और लेह को आपस में जोड़ता है यह हिमाचल के श्रेणी पीरपंजाल में स्थित है तथा इसकी ऊंचाई समुंद तल से 4620 मी० ऊंचाई पर है l

Also Read:- Geography for Competitive Exams in Hindi

अरुणाचल प्रदेश:- अरुणाचल प्रदेश कि तीन दर्रे है l
i :-बोमडिला दर्रा :- अरुणाचल प्रदेश के दर्रो में से पहला दर्रा बोमडिला दर्रा है जो कि तवांग में प्रशिद्ध एक बौद्ध मठ पर स्थित है और यह दर्रा अरुणाचल प्रदेश के तवांग को और तिब्बत को जोड़ता है इसकी ऊंचाई 2217 मी० हैl
ii :- यांग्यप दर्रा :- यांग्यप दर्रा में ब्रह्मपुत्र नदी भारत के इसी पास में प्रवेश करती है यह यांग्यप दर्रा भारत एंव तिब्बत कि सीमा पर ही स्थित होता है l
iii :- दीपू दर्रा :- अरुणाचल प्रदेश का अंतिम दर्रा दीपू दर्रा कहलता है ,और यह म्यांमार के बाँर्डर पर स्थित है l

मणीपुर :- मणीपुर एक ही दर्रा है :-

तुजू दर्रा :- यह कह सकते मणीपुर का एकलौता दर्रा तुजू दर्रा है जो इम्फाल को म्यांमार से जोड़ता है l

2 :- प्रायद्धीप भारत के राज्यों में पाये जाने वाले दर्रे :-


राज्य -महाराष्ट्र , केरल l

महराष्ट्र:- महाराष्ट्र में दो दर्रा स्थित है पहला हैl
i :- भोर घाट दर्रा :- यह दर्रा मुम्बई को पुणे तथा चेन्नई से जोड़ता है इसकी ऊंचाई समुंद तल से 548 मी० पर स्थित है l
ii :- थाल घाट दर्रा :- यह दर्रा मुम्बई को नासिक से ही जोड़ता है और यह मुम्बई का दूसरा दर्रा है l

केरल :-केरल में भी शरीफ दो दर्रा स्थित हैl

i :- पालघाट दर्रा :- इस दर्रे को पालककाण्ड दर्रा भी कहते है जो अन्नामलाई व नीलगिरी के बीच पहाड़ियों में स्थित है जिसकी ऊंचाई 300 मी० है, ये केरल (कोझिकोड ) तथा तमिलनाडु (कोयंबटूर) को आपस में जोड़ता है l
ii :- शेनकोट्टा :- शेनकोट्टा केरल का दूसरा दर्रा है जिसकी कार्रामोम में 210 मी० कि ऊंचाई पर तथा इलायची पहाड़ियों पर स्थित है यह तिरुवनंतपुरम (केरल ) और मदुरै को आपस में जोड़ता है l

दोस्तों उम्मीद करते हैं Bharat ke Pramukh Darre पोस्ट आपको अच्छा लगा होगा इसे अपने दोस्तों को शेयर करना न भूलें।