Republic Day Essay in Hindi

आज के इस पोस्ट Republic Day Essay in Hindi में हम Republic Day के बारे में हम आपको बहुत ही महत्पूर्ण जानकारी दे रहें हैं जिससे आपके आने वाले आगामी परीक्षाऔ में मदद मिलेगी और आपकी जानकारिया भी बढ़ेंगी।

Republic Day Essay in Hindi

भारत में गणतंत्र दिवस हर साल २६ जनवरी को बहुत धूमधाम से मनाया जाता हैं आपको बता दे की इस दिन भारत में संविधान लागू किया गया था । भारत के संविधान में भारत सरकार अधिनियम 1935 को हटा कर इसकी जगह 26 जनवरी 1950 को भारत के एक विशेष दस्तावेज के रूप में लिया । इस दिन भारत सरकार द्वारा राष्ट्रीय अवकाश रखा गया हैं । इस दिन भारत के राष्ट्रीपति जी के उपस्थिति में भारत की राजधानी , नई दिल्ली में राजपथ (इंडिया गेट के सामने ) परेड तथा सांस्कृतिक कर्यक्रम के आयोजन किया जाता हैं ।

प्रस्तावना

पूरे भारत में हर साल २६ जनवरी को गणतंत्र दिवस एक पर्व के रूप में मनाया जाता हैं, इस दिन सभी स्कूल, महाविद्यालय,सरकारी दफ्तर में बहुत ही हर्ष उल्लास से मनाया जाता हैं और इसे हर जाती तथा धर्म के लोग भी बहुत धूमधाम से मनाता है ।यह अति आवश्यक है कि इस दिन को हमें उचित सम्मान दे और इसे बिना किसी भेद भाव के साथ मिलकर मनाना चाहिए,ताकि हमारे देश कि एकता और अखंडता बनी रहे ।

गणतंत्र दिवस का अर्थ

गणतंत्र दिवस को लोकतंत्र, जनतंत्र ,प्रजातंत्र भी कहा जाता हैं जिसका अर्थ होता हैं – प्रजा का राज्य , प्रजा का शासन । जिस दिन देश का संविधान लागू हुआ था, उसी दिन को गणतंत्र दिवस के रूप मनाते हैं, सन 1946 से संविधान
बनना शुरूहो गया था और दिसम्बर सन 1949 में बनकर तैयार हो गया था। इस संविधान को 26 जनवरी, 1950 को लागू किया गया था । तभी से हर साल 26 जनवरी 1950 को हम सब भारतीय लोग मिलजुल कर मनाते हैं ।

गणतंत्र दिवस का इतिहास

सन 1929 को दिसंबर में लाहौर में भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस का अधिवेशन पंडित जवाहरलाल नेहरू कि अध्यक्षता में हुआ, जिसमे प्रस्तवा पारित कर इस बात की घोषणा की गई की यदि अग्रेज सरकार 26 जनवरी सन 1930 तक भारत को अधिराज्य का पद नहीं प्रदान करेगी, जिसके तहत भारत ब्रिटिश साम्राजय में ही स्वशासि इकाई बन जाए उस दिन भारत की पुण्य स्वतंत्रता के निश्चय की घोषणा की और अपना सक्रिय आंदोलन आरम्भ किया । उस दिन से 1947 में स्वतंत्रता प्राप्त होने तक 26 जनवरी स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाता रहा ।इसके पश्चात सवतंत्रता प्राप्ति के वास्तविक दिन 15 अगस्त को भारत के सवतंत्रता दिवस के रूप में स्वीकार किया गया ।

Also Read:- Hindi Varnamala

भारत के सवतंत्र हो जाने के बाद संविधान सभा की घोषणा हुई इसने अपना काम 9 दिसंबर 1947 से आरम्भ कर दिया ।संविधान सभा के सदस्‍य भारत के राज्यों की सभाओं के निर्वाचित सदस्‍यो के द्वारा चुने गए थे डॉ. भीमराव आंबेडकर,जवाहरलाल नेहरू, डॉ. राजेंद्र प्रसाद, सरदार वल्लभ भाई पटेल, मौलाना अबुल कलाम आज़ाद आदि इस सभा के प्रमुख सदस्य थे ।

गणतंत्र दिवस के रोचक तथ्य

1 इस दिन, पहली बार 26 जनवरी 1930 में पूर्ण स्वराज का कार्यक्रम मनाया गया, जिससे अंग्रेजी हुकूमत से भारत को पूर्ण आजादी दिलाने के लिए शपथ ली गई थी ।
2 भारत के पहले गणतंत्र दिवस समारोह के मुख्य अतिथि इंडोनेशिया के राष्ट्रपति सुकर्णो आये थे ।
3 गणतंत्र दिवस समारोह का राजपथ में पहली बार आयोजन वर्ष 1955 में किया गया था।
4 भारतीय गणतंत्र दिवस समारोह के दौरान भारत के राष्ट्रपति को 31 तोपों की सलामी दी जाती है ।

गणतंत्र दिवस का महत्त्व

1 २६ जनवरी का दिन हमारे जीवन में अत्यधिक महत्त्व है गणतंत्र दिवस का पर्व हामरे अंदर आत्म गौरव भरने का कार्य करता है तथा हमें पूर्ण स्वतंत्रता की अनुभूति करता है यही कारन है की इस दिन को पूरे देश भर में इतने धूम धाम से तथा हार्स उल्लाह के साथ मनाया जाता है ।
२.२६ जनवरी के दिन हमे हमारे संविधान का महत्व समझाता है भले ही हमारा देश 15अगस्त 1947 को स्वतंत्र हो गया था परन्तु इससे पूर्व रूप से स्वतंत्रता की प्राप्ति 26 जनवरी 1950 को मिली जब संबिधान लागू हुआ ।
३.हर जगह इसका महत्त्व अलग- अलग है खासकर शिक्षण संस्थानों में इसे बहुत ही उत्साह पूर्वक मनाया जाता है इन दिनों शिक्षण संस्थानों में कई कार्यकर्मो का आयोजन किया जाता है ।

उपसंहार

गणतंत्र दिवस का यह राष्ट्रीय पर्व हमारे लिए बहुत मत्वपूर्ण है हमारा यह राष्ट्रीय पर्व हमे देश पर बलिदान होने वाले अमर सहीदो की स्मृति को याद दिलाकर हमारी आँखों में आँशु ले आता है तथा साथ ही हमारे मुख पर स्वतंत्रा की ख़ुशी भी लेकर आता है यह पर्व हमें संविधान के प्रति कृतज्ञ या निष्ठावान रहने की प्रेडना देता है हम भारतीयों का यह कर्तव्य है की हम महापुरषो के बलिदानो को व्यर्त ना जाने दे तथा अपनी भारत माता की तन मन धन से सेवा करे तथा बाहरी ताकतों से उसकी रक्षा करे।

दोस्तों हमारे इस पोस्ट Republic Day Essay in Hindi को पढ़कर आपको काफी सारी जानकारिया मिली होंगी आशा करता हूँ की आप इसे अपने दोस्तों को शेयर जरूर करेंगे और अगर आपके पास हमारे इस पोस्ट Republic Day Essay in Hindi को लेकर कुछ भी कमिया या जानकारिया है तो आप कमेंट करना न भूलें।