Sarvanam ke Bhed : परिभाषा, भेद, उदाहरण, वाक्य, शब्द

Sarvanam ke Bhed : परिभाषा, भेद, उदाहरण, वाक्य, शब्द

आज के इस पोस्ट Sarvanam ke Bhed में हमने सर्वनाम को पूरी तरीके से कवर करने की कोशिश की है, इसे अगर आपने अच्छे से पढ़ लिया तो आपका ये कांसेप्ट पूरी तरीके से क्लियर हो जायेगा।

परिभाषा

सभी नामों (संज्ञाओं) के बदले जो शब्द आये, वह सर्वनाम होता है, यानी संज्ञा के स्थान पर प्रयोग किये जाने वाले शब्दों को ही सर्वनाम कहते हैं।
जैसे- मैं, हम, तुम, वे, आप आदि शब्द सर्वनाम हैं।

सर्वनाम जिसका संधि विच्छेद (सर्व+नाम) होता है, का शाब्दिक अर्थ है – सबका नाम । ये शब्द किसी व्यक्ति विशेष द्वारा प्रयुक्त न होकर सबके द्वारा प्रयोग किये जाते हैं, तथा किसी एक का नाम न होकर सबका नाम होता है। तुम का प्रयोग सामने वाले से बात करते समय किया जाता है, वो कोई व्यक्ति विशेष नहीं बल्कि कोई भी हो सकता है, और किसी के द्वारा भी प्रयोग किया जा सकता है। इस लिए यहाँ पर ‘तुम’ सर्वनाम हुआ।

Sarvanam ke Bhed (सर्वनाम के भेद)

सर्वनाम के ६ भेद हैं –
१- पुरुषवाचक सर्वनाम (Personal Pronoun )
२- निश्चयवाचक सर्वनाम (Demonstrative Pronoun )
३- अनिश्चयवाचक सर्वनाम (Indefinite Pronoun )
४- सम्बन्धवाचक सर्वनाम (Relative Pronoun )
५- प्रश्नवाचक सर्वनाम (Interrogative Pronoun )
6- निजवाचक सर्वनाम (Reflexive Pronoun )

अब चलिए इसको विस्तार से समझने की कोशिश करते हैं।

१- पुरुषवाचक सर्वनाम (Personal Pronoun )

जो पुरुषों ( पुरुष या स्त्री ) के नाम के बदले प्रयोग किये जाते हैं, उन्हें पुरुषवाचक सर्वनाम कहा जाता है। पुरुषवाचक सर्वनाम निम्नलिखित तीन प्रकार के होते हैं – उत्तम पुरुष, मध्यम पुरुष एवं अन्य पुरुष।

उत्तम पुरुष – मैं, हम, मैंने, हमने, मेरा, हमारा, मुझे, मुझको ।
मध्यम पुरुष – तु, तुम, तुमने, तुझे, तूने, तुम्हे, तुमको, तुमसे, आपने, आपको ।
अन्य पुरुष – यह, वह, ये, वे, उनको, उसे, उसका, उनका, इन्हे, उन्हें, उसको, इससे, उन ।

२- निश्चयवाचक सर्वनाम (Demonstrative Pronoun )

निकट या दूर के व्यक्तियों या वस्तुओं का निश्चायत्मक संकेत जिन शब्दों से व्यक्त होता है, उन्हें निश्चयवाचक सर्वनाम कहते हैं। जैसे- यह, वह, ये, वे।
(a) यह मेरी घड़ी है।
(b) वह सौरभ का भाई है ।
(c) ये मेरे दोस्त हैं ।
(d) वे तुम्हारे रिस्तेदार हैं ।

३- अनिश्चयवाचक सर्वनाम (Indefinite Pronoun )

जिन सर्वनामों से किसी निश्चित वस्तु का बोध नहीं होता उन्हें ३- अनिश्चयवाचक सर्वनाम कहते हैं । जैसे- कोई, कुछ ।
कोई आ गया तो क्या करोगे ?
उसने कुछ नहीं लिया ।

४- सम्बन्धवाचक सर्वनाम (Relative Pronoun )

जिस सर्वनाम का किसी दोस्सरे सर्वनाम से सम्बंद स्थापित किया जाए, उसे सम्बन्धवाचक सर्वनाम कहा जाता है । जैसे- जो, सो ।
जो आया है, सो जायेगा यह सत्य वचन है ।

५- प्रश्नवाचक सर्वनाम (Interrogative Pronoun )

प्रश्नवाचक सर्वनाम का प्रयोग प्रश्न पूछने के लिए किया जाता है। जैसे- कौन, क्या ।
मेरे घर कौन अभी कौन आया था?
श्याम किसका भाई है?
दूध में क्या गिर गया?

6- निजवाचक सर्वनाम (Reflexive Pronoun )

‘आप’ निजवाचक सर्वनाम है । इसका प्रयोग खुद के लिए किया जाता है (अपने आप, खुद, स्वतः, या स्वयं); जैसे- यह कार्य मई स्वयं कर लूँगा। ( इस वाक्य में मैंने काम अपने आप से करने की बात की है) इसलिए यह निजवाचक सर्वनाम हुआ।

निजवाचक सर्वनाम ‘आप’ का का प्रयोग इन स्थितियों में होता है-
१) किसी संज्ञा या सर्वनाम के अवधारण/निश्चय के लिए; जैसे – मैं आप वहीँ से आया हूँ ।
२) दुसरे व्यक्ति के निराकरण के लिए: जैसे – वह औरों को नहीं, अपने को सुधर रहा है ।
३) सर्वसाधारण के अर्थ में; जैसे – अपने से बड़ों का आदर करना चाहिए ।

You may also like these Posts:-

दोस्तों उम्मीद करता हूँ पोस्ट आपको अच्छी लगी होगी, इसे अपने दोस्तों को भी शेयर करें और अपनी इस वेबसाइट को आगे बढ़ने में मदद करें।

Hindi