Vilom Shabd – विलोम शब्द इन हिंदी

दोस्तों आज के इस पोस्ट Vilom Shabd में मैंने बहुत ही महत्त्वपूर्ण प्रश्नों का संग्रह लाया हूँ, मैंने बहुत ही चुनिंदा विलोम शब्द जो की बहुत सारी परीक्षाओं में पुछा गया है, वही यहाँ आपके सामने लाया हूँ।
उम्मीद करता हूँ ये पोस्ट आपको जरूर पसंद आएगा, और आप इसका PDF भी डाउनलोड कर सकते हैं।

Vilom Shabd

अतिथि – आतिथेय
अनुलोम – प्रतिलोम
अंतर्मुखी – वहिर्मुखी
अंधकार – प्रकाश
अनुकूल – प्रतिकूल
अर्वाचीन – प्राचीन
उच्च – निम्न
उत्तरायण – दक्षिणायन
ऐतिहासिक – अनैतिहासिक
औपचारिक – अनौपचारिक
कठोर – कोमल
कुख्यात – विख्यात
कठिन – सरल
कनिष्ठ – ज्येष्ठ
कपूत – सपूत
कदाचार – सदाचार
क्षमा – क्रोध
क्षर – अक्षर
खाद्य – अखाद्य
गुरु – लघु
घटना – बढ़ना
घात – प्रतिघात
घृणा – प्रेम
चल – अचल
चढ़ाव – उतार
ज्वार – भाटा
जन्म – मृत्यु
जवानी – बुढ़ापा
ज्ञान – अज्ञान
तामसिक – सात्विक
तिमिर – प्रकाश
तरुण – वृद्ध
तृषा – तृप्ति
तीव्र – मंद
तीक्ष्ण – कुंठित
तृप्त – अतृप्त
दानी – कंजूस
दुर्दांत – शांत
दुर्जन – सज्जन
ध्वंस – निर्माण
निसिद्ध – विहित
नैसर्गिग – कृत्रिम
निद्रा – जागरण
निर्गुण – सगुण
दुराचारी – सदाचारी
दुर्बल – सबल
धीर – अधीर
नैतिक – अनैतिक
निंदा – स्तुति
निरर्थक – सार्थक
नकारात्मक – सकारात्मक
नित्य – अनित्य
परमार्थ – स्वार्थ
पुण्य – पाप
बहिरंग – अंतरंग
बर्बर – सभ्य
भ्रांत – निर्भ्रान्त
मानवीय – अमानवीय
मृदुल – रुक्ष
परिश्रम – विश्राम
मोक्ष – बंधन
पुरातन – नवीन
प्रसारण – संकोचन
प्रकट – गुप्त
मुख्य – गौण
मनुज – दनुज
मूक – वाचाल
रत – विरत
यथार्थ – कल्पित
लेन – देन
विपत्ति – संपत्ति
विश्लेषण – संश्लेषण
वसंत – पतझड़
वृहत – लघु
लिप्त – निर्लिप्त
रिक्त – पूर्ण
लौह – स्वर्ण
विकीर्ण – संकीर्ण
विशिष्ट – साधारण
विस्तृत – संक्षिप्त
विकर्ष – आकर्ष
विनाश – निर्माण
विशालकाय – लघुकाय
शोषण – पोषण
शयन – जागरण
शुष्क – आद्र
शुचि – अशुचि
श्रव्य – अश्रव्य
श्रीगणेश – इतिश्री
सक्षम – अक्षम
श्पृश्य – अश्पृश्य
ऐहिक – पारलौकिक
मनसा – कर्मणां
औरस – दत्तक
चिरंजीवी – अल्पायु
जंगम – स्थावर
सजल – निर्जल
श्रवण – दर्शन
सुधा – गरल
वर – वधू
वरदान – अभिशाप
इहलोक – परलोक
नीरस – सरस
ईश – अनीश
कृश – पुष्ट
ग्रस्त – मुक्त
सकाम – निष्काम
अनुराग – विराग
भूगोल – खगोल
समास – व्यास
निर्माण – विनाश
मौलिक – अनूदित
क्षणिक – शाश्वत
चिरंतन – नश्वर
सूक्ष्म – स्थूल
महात्मा – दुरात्मा
ग्रामीण – नागर
अनुनासिक – निरनुनासिक
शोषक – पोषक
शुष्क – आद्र
युद्ध – शांति
न्यून – अधिक
अनिवार्य – वैकल्पिक
अकाल – सुकाल
अक्खड़ – भद्र

Also Read:- Anek Shabdon Ke Liye Ek Shabd

Leave a Reply

Your email address will not be published.